WORLD’S FIRST ONLINE HINDI AUDIO LIBRARY
Welcome To Books In Voice
  • Font Size : Decrease text size ADefault text size Increase text size
  • Select Theme :
  • Help

Latest Blog listing

“हिन्दी इस देश की आत्मा है, राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की उन्नति के लिए आवश्यक है।“ ---- महात्मा गांधी

14 सितंबर एक बहुत ही खास दिवस है जो हिन्दी भाषियों को एक नई ऊर्जा एवं उमंग प्रदान करती है। यह जानकार हैरानी होगी कि हिंदी दुनियाभर में बोली जाने वाली चौथी सबसे बड़ी भाषा है। हिन्दी भारत की राजभाषा है। भारत में लगभग 42.5 करोड़ लोगों की पहली भाषा हिंदी है तथा इसके अलावा और भी कई देश हैं, जहां हिंदी...

एक महान भारतीय कवि और दार्शनिक थे तुलसीदास

तुलसीदास (1532-1623)- एक महान भारतीय कवि और दार्शनिक थे। तुलसीदास को बाल्मीकि ऋषि, जिन्होंने संस्कृत में रामायण की रचना की थी, का अवतार माना जाता है। तुलसीदास जी ‘रामचरितमानस’ के रचयिता हैं, जो अब तक के लिखे गए सबसे महान महाकाव्यों में से एक है। तुलसीदास जी का जन्म 1532 ईसवी में राजापुर जिला बांदा,...

महान समाज सुधारक, दार्शनिक और धर्मगुरु भगवान गौतम बुद्ध

भगवान गौतम बुद्ध लेखक- शशिकांत रामचन्द्र मांडके, अनुवादक- सुभाष सरवटे शादी - राजकुमारी यशोधरा पुत्र- राहुल पिता का नाम - शुद्धोदन (एक राजा और कुशल शासक) माता का नाम - माया देवी (महारानी) बौद्ध धर्म की स्थापना - चौथी शताब्दी के दौरानगौतम बुद्ध (जन्म 563 ईसा पूर्व – निर्वाण 483 ईसा पूर्व) एक...

श्री कुप्प सी. सुदर्शनजी- हम सब लोगों ने संघ की प्रतिज्ञा ली है उस प्रतिज्ञा में हम कहते हैं

हम सब लोगों ने संघ की प्रतिज्ञा ली है उस प्रतिज्ञा में हम कहते हैं ‘अपने पवित्र हिंदू धर्म, हिंदू संस्कृति और हिंदू समाज का संरक्षण कर, हिंदू राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति करने के लिए मैं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का घटक बना हूं।’ वह हिन्दू गौरव की पुन: स्थापना के आत्मविश्वासी उद्घोषक थे। योगी श्री...

14 अप्रैल, जन्मदिन विशेष, भारतरत्न डॉ. भीमराव आम्बेडकर

शिक्षा शेरनी का दूध है, इसे जो पिएगा वह शेर की तरह जरूर दहाड़ेगा।- जीवन परिचय- आनंद शर्मा की आवाज में..., डॉ भीमराव आम्बेडकर- आज सम्पूर्ण विश्व जनता है की भारतीय संविधान की रचना डॉ भीमराव आम्बेडकर ने की है। परंतु बहुत कम लोग जानते है कि भीमराव आंबेडकर ने उक्त संविधान की रचना करने से पहले एक और...

महात्मा जोतिराव फुले- 19वी सदी के प्रमुख समाज सेवक

नाम : महात्मा जोतिराव गोविंदराव फुले, जन्म : 11 अप्रैल, 1827, पुणे, पिता : गोविंदराव फुले, माता : विमला बाई, विवाह : सावित्रीबाई फुले, महात्मा ज्योतिबा फुले (ज्योतिराव गोविंदराव फुले) को 19वी. सदी का प्रमुख समाज सेवक माना जाता है। उन्होंने भारतीय समाज में फैली अनेक कुरूतियों को दूर करने के...

सुभाष चंद्र बोस- तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा..!

सुभाष चंद्र बोस- “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा..!", लेखक- डॉ. पु. ग. सहस्रबुद्धे, आवज- विजेंद्र कंबोज- भारतीय स्वाधीनता संग्राम के महान सेनानी, भारत रत्न सम्मानित, स्वाधीनता संग्राम में नवीन प्राण फूंकने वाले सर्वकालिक नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कहा था- तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें...

मेरा जीवन ही मेरा सन्देश है- राष्ट्रपिता महात्मा गांधी

जीवन परिचय- हिंदी की समृद्धि में बढ़ते कदम...www.booksinvoice.com पर सुनिए बिल्कुल मुफ्त पूरा जीवन परिचय... जीवन परिचय “मेरा जीवन ही मेरा सन्देश है" राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, आवज- माही, “मेरा जीवन ही मेरा सन्देश है" राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अर्थात बापू जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरंदर...

जीवन परिचय- गुरू नानक देव जी- सिखों के प्रथम गुरु

*हिंदी की समृद्धि में बढ़ते कदम...www.booksinvoice.com पर सुनिए बिल्कुल मुफ्त पूरा जीवन परिचय...जीवन परिचयगुरू नानक देव जी- सिखों के प्रथम गुरु आवाज - संदीप शर्मा नाम : नानक जन्म : 15 अप्रैल, 1469, ननकाना साहिब (तलवंडी) पिता : कल्यानचंद (मेहता कालू ) माता : तृप्ता देवी विवाह : सुलक्षणा देवी...

Www.booksinvoice.com पर सुनिए… Vinayak Damodar Savarkar/वीर सावरकर और 'हिंदुत्व'

आज हमारे देश में वीर सावरकर को लेकर भिन्न-भिन्न मत हैं। एक ओर उनके प्रशंसक, समर्थक, पूजक और आराधक हैं तो दूसरी ओर उनके विरोधी। निंदक और आलोचक हैं। ‘हिंदुत्व' भारत में 'हिंदू राष्ट्रवाद' का प्रमुख 'कार्य' है. 'हिंदुत्व' शब्द का प्रयोग या निर्माण 19वीं शताब्दी का है। पहली बार यह शब्द 1870 के दशक...

All Right's Reserved by AVIS © 2017-2021